Hindi Kavita
संत दादू दयाल जी
Sant Dadu Dayal Ji
 Hindi Kavita 

संत दादू दयाल जी

संत दादू दयाल संत कबीर के शिष्यों में से एक थे। संत कवि दादू दयाल फागुन संवत 1601 में अहमदाबाद में साबरमती नदी के तट पर लोदीराम नाम के ब्राह्मण को पानी में बहते मिले थे। 11 की उम्र में श्रीकृष्ण की भक्ति में लीन हो गये। 13 साल में जब वे घर से भागे तो माता-पिता पकड़ कर वापस ले आये। लेकिन सात वर्ष बाद वे फिर भाग खड़े हुए और सागर पहुंच कर धुनिया का काम करने लगे। वहीं 12 साल तक अध्ययन करते रहे। गुरु-कृपा से ज्ञान प्राप्त होने से इनके कई सैंकडों शिष्य हो गए। जिनमें गरीबदास, सुंदरदास, रज्जब और बखना मुख्य हैं। वे हिन्दी, गुजराती, राजस्थानी आदि कई भाषाओं के ज्ञाता थे। इन्होंने शब्द और साखी लिखीं। इनकी रचना प्रेमभावपूर्ण है। जात-पात के निराकरण, हिन्दू-मुसलमानों की एकता आदि विषयों पर इन्होंने अनेक पद/शब्द लिखे हैं। कहते हैं प्रसिद्धि होने पर एक बार उन्हें अकबर ने बुलवाया और पूछा कि अल्लाह की जाति क्या है ? इस पर इन्होंने ने एक दोहा सुनाया-
इश्क अल्लाह की जाती है इश्क अल्लाह का अंग
इश्क अल्लाह मौजूद है, इश्क अल्लाह का रंग ।


हिन्दी कविता संत दादू दयाल जी
साखी संत दादू दयाल जी

श्री गुरुदेव का अंग
सुमिरण का अंग
विरह का अंग
परिचय का अंग
जरणा का अंग
हैरान का अंग
लै का अंग
निहकर्मी पतिव्रता का अंग
चेतावनी का अंग
मन का अंग
सूक्ष्म जन्म का अंग
माया का अंग
साँच का अंग
भेष का अंग
साधु का अंग
मधय का अंग
सारग्राही का अंग
विचार का अंग
विश्वास का अंग
पीव पहचान का अंग
समर्थता का अंग
शब्द का अंग
जीवित मृतक का अंग
शूरातन का अंग
काल का अंग
सजीवन का अंग
पारिख का अंग
उपजन का अंग
दया निर्वैरता का अंग
सुन्दरी का अंग
कस्तूरिया मृग का अंग
निन्दा का अंग
निगुणा का अंग
विनती का अंग
साक्षी भूत का अंग
बेली का अंग
अबिहड़ का अंग

शब्द संत दादू दयाल जी

शब्द राग गौड़ी
शब्द राग माली गौड़ी
शब्द राग कल्याण
शब्द राग कान्हड़ा
शब्द राग अडाणा
शब्द राग केदार
शब्द राग मारू (मारवा)
शब्द राग रामकली
शब्द राग आसावरी
शब्द राग सिन्दूरा
शब्द राग देवगांधार
शब्द राग कालिंगड़ा
शब्द राग परजिया (परज)
शब्द राग भाँणमली
शब्द राग सारंग
शब्द राग टोडी (तोडी)
शब्द राग हुसैनी बंगाल
शब्द राग नट नारायण
शब्द राग सोरठ
शब्द राग गुंड (गौंड)
शब्द राग बिलावल
शब्द राग सूहा
शब्द काया बेली ग्रन्थ
शब्द राग बसन्त
शब्द राग भैरूँ
शब्द राग ललित
शब्द राग जैत श्री
शब्द राग धानाश्री

Hindi Poetry Sant Dadu Dayal Ji

 
 
 Hindi Kavita